बच्चों की कहानी

एक गांव में मदन नाम का लड़का रहता था (बच्चों की कहानी ) जो पढ़ने में बहुत ही कमजोर था
वह कोई भी एक जाम देता था वह फेल हो जाता था क्योंकि वह पढ़ता ही नहीं था इसी तरह वह मैट्रिक में दो बार फेल हो वह सोच रहा था कि मैं पढ़ाई छोड़ दूंगा लेकिन एक आदमी को पता चला कि तुम्हारे बगल में जो लड़का जा रहा है वह 2 साल से एग्जाम देता है लेकिन एक बार भी पास नहीं हुआ तभी उस आदमी ने मदन को कहता है तुम मेरे घर पर 1 दिन आना लड़का पूछता है क्यों तुम बोलता है तुम आओ तो सही तुम्हें मुझे कुछ बताना है और दूसरे दिन लड़का उसके घर पर जाता है ,

वह आदमी मदन को कहता है कि दिन में तुम कितने घंटे पढ़ाई करते हो और वह बोलता है 1 से 2 घंटे तो उसे बोलता है मदन को कि देखो एक से दो घंटा पढ़ने से ना कुछ भी नहीं हो पाएगा इसमें पास 2 साल से तुम फेल हो रहे हो इसी कारण कम से कम तुम दिन में 6 घंटे पढ़ो और तभी तुम पास होगा उसे इतना बात समझाया कि वह पढ़ाई पर पूरी तरह से ध्यान देने लगा और आगे चलकर वह (IAS) आईएस बन गया ‘

बच्चों की कहानी

Kahani No. 2

गायक की कहानी जोकि कुछ भी गाने के लिए सही से नहीं जानता था वह गाता था तो लगता था कि कोई भैंस बिगड़ रहा है लेकिन वह गाने को गाना चाहता था वह कहता था कि मुझे सिर्फ गाना ही गाना और मुझे कुछ भी नहीं करना है इसी जीतने से एक आदमी से मिला देता है जो कि बहुत ही अच्छा गाना गाने के लिए सिखाता है और उसे 2 साल कड़ी मेहनत के बाद उसे ऐसा गायक बना देता है कि कोई भी गाना गा दे तो वह गाना हिट हो जाता है

Motivishan बच्चों की कहानी

तो इसलिए दोस्तों कुछ भी करना हो तो हिम्मत नहीं हारना हर तरफ तुझे ठोकर मिलेगा लेकिन ठोकर को छोड़कर तुम्हें आगे बढ़ना होगा अगर ठोकर लगेगा तो रुक जाएगा तो जिंदगी भर तुम वहीं पर रुके रह जाओगे इसीलिए कहता हूं आगे बढ़ते रहो जब तक पैर में कुछ ना हो जाए तब पर भी भरो अगर पैर में कांटा चुभ जाए :

कहानी

बच्चों की कहानी

शेर और चीते की कहानी

1 दिन की बात है एक जंगल में एक से एक और एक चीता दोनों अलग-अलग देशों से आ रहा था और तभी दोनों आपस के सामने में आ जाता और थोड़ा मोड़ा लड़ाई करने लगता है और कहता है कि मैं इस जंगल का राजा हूं तुम यहां से निकल जाओ और शेर कहता है नहीं मैं राजा हूं इस जंगल का तुम मेरे जंगल से निकल जाओ लेकिन यही बात जो करने के लिए वह सभी जानवर को बुलाया जाता है और सभी जानवर बोलते हैं कि अगर ऐसा नहीं हो सकता तो दोनों को जंगल बांट देते हैं आधा उसको और आधा चीते का लेकिन इससे हाथी कहता है यह गलत है जंगल हम नहीं बैठेंगे क्योंकि पहले से ही जंगल इंसान बहुत काट रहे हैं इसलिए अगर जंगल बाटेंगे तो आधा उधर रहेगा कम कम जानवर बैठ जाएंगे तो फिर इंसान बहुत सारे जंगल काट देंगे तो यही बात से फिर से वहां पर फैसला भक्षक होने लगता है क्या कहता है कि क्यों ना हम सभी साथ मिलकर रहें और राजा कोई नहीं रहे जंगल में तो सभी जानवर इस बात पर सभी जानवर कहते चलो ठीक है और सभी मान जाता और एक साथ सभी खुशी खुशी से रहने लगते हैं

टुडे इस कहानी से मैया शिक्षा मिलती है कि सभी को मिलजुल कर रहने में ही भलाई है वरना अगर किसी से लड़ाई करोगे तो आपस में फूट पड़ेगा और कोई तीसरा आकर तुमसे छीन ले जाएगा

बच्चों की कहानी

Leave a Comment